| |

Bhakra Nangal Project is constructed across which river? / भाखड़ा नंगल परियोजना का निर्माण किस नदी पर किया गया है?

Bhakra Nangal Project is constructed across which river? / भाखड़ा नंगल परियोजना का निर्माण किस नदी पर किया गया है?

 

(1) Ganga / गंगा
(2) Sutlej / सतलुज
(3) Cauvery / कावेरी
(4) Brahmaputra / ब्रह्मपुत्र

(SSC CGL Tier-I (CBE) Exam. 04.09.2016)

Answer / उत्तर : – 

(2) Sutlej / सतलुज

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

 

Bhakra Nangal Projectis a concrete gravity dam the Satluj River in Bilaspur, Himachal Pradesh. It is a joint venture of the Punjab, Haryana and Rajasthan states designed to harness the precious water of the Satluj for the benefit of the concerned states.

Bhakra Nangal Dam is built on the Sutlej river in Bilaspur district of Himachal Pradesh. This dam has been constructed under Bhakra Nangal Project. It is the second tallest dam in India after the 856 feet high Tehri Dam. Its height is 740 feet. The country’s largest multi-purpose river valley project, the Bhakra Nangal project, was dedicated to the nation in 1963. Bhakra Nagal Dam built on the Sutlej River in Bilaspur district of Himachal Pradesh is the longest dam in the country. It is the second tallest dam in the country and the third tallest in the world after Tehri Dam. The bigger boulder dam is in America. The construction of the Bhakra Nangal Dam began in 1948 and was completed in 1962 under the direction of American dam builder Harvey Slochem. It was launched on 22 October 1963 by the then Prime Minister Jawaharlal Nehru. Its main purpose is irrigation and power generation. The hydroelectric power plant on this dam generates 1325 MW, which supplies electricity to Haryana, Rajasthan, Gujarat and Himachal Pradesh besides Punjab. At the inauguration of the Bhakra Nangal project, Pandit Jawaharlal Nehru had said – “There is something amazing, something awe-inspiring in the Bhakra Nangal project, something that shakes your heart when you see it. Bhakra is the new temple of the resurgent India and it is a symbol of India’s progress.’ Bhakra Dam built between Shivalik hills is 740 feet high and 1700 feet long. Its width is 625 in the base and 30 feet at the top. At the same time, the Nangal Dam located 13 km below it is 95 feet high and 1000 feet long. It is a joint project of Rajasthan, Punjab and Haryana. Rajasthan’s share in this is 15.2 percent. The project provides electricity to more than 250 small and large villages and towns besides Sri Ganganagar, Hanumangarh, Sikar, Jhunjhunu and Churu districts.

भाखड़ा नंगल परियोजना हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में सतलुज नदी पर बना एक ठोस गुरुत्वाकर्षण बांध है। यह पंजाब, हरियाणा और राजस्थान राज्यों का एक संयुक्त उद्यम है जिसे संबंधित राज्यों के लाभ के लिए सतलुज के कीमती पानी का उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

भाखड़ा नांगल बाँध हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर ज़िले में सतलुज नदी पर बनाया गया है। यह बाँध भाखड़ा नांगल परियोजना के अंतर्गत निर्मित किया गया है। यह 856 फीट ऊँचे टिहरी बाँध के बाद भारत का दूसरा सबसे ऊँचा बाँध है। इसकी ऊँचाई 740 फीट है। देश की सबसे बड़ी बहुउद्देश्यीय नदी घाटी परियोजना, भाखड़ा नांगल परियोजना को सन 1963 में देश को समर्पित किया गया था। हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर ज़िले में सतलुज नदी पर बना भाखड़ा नागल बाँध देश का सबसे लंबा बाँध है। यह टिहरी बाँध के बाद देश का दूसरा सबसे ऊँचा और दुनिया का तीसरा सबसे ऊँचा बाँध है। इससे बड़ा बोल्डर बाँध अमेरिका में है। भाखड़ा नांगल बाँध का निर्माण 1948 में शुरू हुआ और अमेरिकी बाँध निर्माता हार्वे स्लोकेम के निर्देशन में 1962 में इसका निर्माण पूरा हुआ। 22 अक्टूबर, 1963 को तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने इसका शुभारम्भ किया था। इसका मुख्य उद्देश्य सिंचाई और बिजली उत्पादन है। इस बाँध पर लगे पनबिजली संयंत्र से 1325 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होता है, जिससे पंजाब के अलावा हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और हिमाचल प्रदेश में बिजली की आपूर्ति होती है। भाखड़ा नांगल परियोजना के उद्घाटन के समय पंडित जवाहरलाल नेहरू ने कहा था- ‘भाखड़ा नांगल परियोजना में कुछ आश्‍चर्यजनक है, कुछ विस्‍मयकारी है, कुछ ऐसा है जिसे देखकर आपके दिल में हिलोरें उठती हैं। भाखड़ा पुनरूत्थित भारत का नवीन मन्दिर है और यह भारत की प्रगति का प्रतीक है।’ शिवालिक पहाड़ियों के बीच बना भाखड़ा बाँध 740 फीट ऊँचा और 1700 फीट लंबा है। आधार में इसकी चौड़ाई 625 और ऊपर 30 फीट है। वहीं इससे 13 किलोमीटर दूर नीचे स्थित नांगल बाँध 95 फीट ऊँचा और 1000 फीट लंबा है। यह राजस्थान, पंजाब और हरियाणा की संयुक्त परियोजना है। इसमें राजस्थान की हिस्सेदारी 15.2 प्रतिशत है। इस परियोजना से श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, सीकर, झुंझनू और चुरू ज़िलों के अलावा 250 से अधिक छोटे बड़े गांव और कस्बों को बिजली प्राप्त होती है।

Similar Posts

Leave a Reply