| |

Farakka Barrage was commissioned to / फरक्का बैराज को कमीशन किया गया था

Farakka Barrage was commissioned to / फरक्का बैराज को कमीशन किया गया था

 

(1) save Kolkata port / कोलकाता बंदरगाह बचाओ
(2) link North and South Bengal / उत्तर और दक्षिण बंगाल को जोड़ें
(3) supply drinking water to Kolkata / कोलकाता को पेयजल की आपूर्ति
(4) divert water to Bangladesh / पानी को बांग्ला-देश की ओर मोड़ना

(SSC CPO Sub-Inspector Exam. 12.01.2003)

Answer / उत्तर : – 

(1) save Kolkata port / कोलकाता बंदरगाह बचाओ

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :- 

Farakka Barrage is a barrage across the Ganges River, located in the Indian state of West Bengal, roughly 16.5 kilometres from the border with Bangladesh near Chapai Nawabganj District. Construction was started in 1961 and completed in 1975. The barrage was built to divert up to 44,000 cu ft/s (1,200 m3/s) of water from the Ganges River into the Hooghly River during the dry season, from January to June, in order to flush out the accumulating silt which in the 1950s and 1960s was a problem at the Port of Kolkata (Calcutta) on the Hooghly River.

Farakka Barrage Project

Farakka Barrage is about 300 km from Kolkata. To the north lies the Murshidabad and Malda districts of West Bengal. It is the largest barrage of its kind in the country with a feeder canal with a flow of 40,000 cusecs (1135 cumec) whose surface width is more than that of the Suez Canal. The feeder canal originates upstream on the right bank of Farakka Barrage and is 40 kms from Farakka Barrage. Downstream the right channel of the Ganges drains into the Bhagirathi.

Farakka Barrage Project has been entrusted with the following main components of execution, operation and maintenance and other works:-

A 2245 m stretch over the river Ganges with rail-cum-road bridge. Tall barrage, necessary river training work and a head regulator on the right.
There is a 213 mt on Bhagirathi river at Jangipur. Tall barrage and additionally a navigational lock.

Starting from the head regulator on the right bank of the Farakka barrage, it has a water capacity of 1135 cumec (40,000 cusec) and a distance of 38.38 km. Long feeder canal. This feeder canal is a part of National Waterway No.-1.
Navigational infrastructure such as locks, lock channels, shelter basins, control towers, navigation lights and other infrastructure at Farakka and Jangipur.
33.79 kms of Farakka Barrage left and 7 kms. Right eflux dam, and 16.31 kms of Jangipur barrage. Left efflux bandha.

Two road-cum-rail bridges and two road bridges over the feeder canal.
Multiple regulators at different places in both Murshidabad and Malda districts.
Bagmari Siphon on Feeder Canal’s RD 48.00.

The scope of Farakka Barrage Project has been extended upstream to Rajmahal (40 Km. from Farakka Barrage) with Diara in upstream and Jalangi (80 Km. from Farakka Barrage) in downstream to take necessary anti-erosion protective work for protection of barrage. .

Important Activities of Farakka Barrage:

operation and maintenance:
Farakka Barrage and Head Regulator
feeder canal
Shipping Lock on Farakka
Jangipur Barrage
flood rescue

Maintenance of four guide dams on both banks of barrage at Farakka and Jangipur
maintenance of efflux bonds
Left Aflux Bandh along Inspection Road (34 km) and several regulators on the river at Pagala, Tutianala, Nimjala, Bhagirathi and Kalindri.
Right Aflux Bandh (10 km)
For protection of river banks upstream bank of Farakka barrage and protection of embankments for protection of densely populated villages and protection of communication line behind embankment.

Flood/rescue work downstream of Farakka barrage on right bank.
Flood/Rescue work at Fazilpur situated on right bank of Ganga.
Maintenance of Farakka Barrage Project Township
Maintenance of Farakka township having residential and non-residential buildings and two other townships at Jangipur (Ahiron) and Kejuriyaghat.
Maintenance of Higher Secondary School.
Maintenance of Farakka Barrage Project Hospital.
ferry services
Ferry service for communication to the villagers living on either side of the banks at different locations of the feeder canal/lock channel.

फरक्का बैराज गंगा नदी के पार एक बैराज है, जो भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में स्थित है, जो बांग्लादेश की सीमा से लगभग 16.5 किलोमीटर दूर चपाई नवाबगंज जिले के पास है। निर्माण 1961 में शुरू हुआ और 1975 में पूरा हुआ। बैराज का निर्माण जनवरी से जून तक, शुष्क मौसम के दौरान गंगा नदी से 44,000 घन फीट/सेकंड (1,200 एम3/सेकेंड) पानी को हुगली नदी में मोड़ने के लिए किया गया था। जमा हुई गाद को बाहर निकालने का आदेश, जो 1950 और 1960 के दशक में हुगली नदी पर कोलकाता बंदरगाह (कलकत्ता) में एक समस्या थी।

फरक्का बैराज परियोजना

फरक्का बैराज कोलकाता के लगभग 300 कि.मी. उत्तर में पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद और मालदा जिलों में स्थित है। यह देश का अपनी तरह का सबसे बडा बैराज है जिसकी 40000 क्यूसेक (1135 क्यूमेक) प्रवाह वाली एक फीडर नहर है जिसकी सतही चौड़ाई स्वेज नहर से भी अधिक है। फीडर नहर फरक्का बैराज के दाहिने तट पर अपस्ट्रीम से निकली है और फरक्का बैराज के 40 कि.मी. डाउनस्ट्रीम गंगा के दाहिने चैनल भागीरथी में गिरती है।

फरक्का बैराज परियोजना को इसके निम्नलिखित मुख्य घटकों निष्पादन, संचालन और अनुरक्षण तथा अन्य कार्यों का काम सौंपा गया है:-

रेल-सह-सड़क पुल के साथ गंगा नदी पर एक 2245 मी. लंबा बैराज, आवश्यक नदी प्रशिक्षण कार्य और दाहिने ओर एक हेड रेगुलेटर।
जांगीपुर में भागीरथी नदी पर एक 213 मी. लंबा बैराज और इसके अतिरिक्त एक नौवहन लॉक।

फरक्का बैराज के दाहिने तट पर स्थित हेड रेगुलेटर से शुरू होकर 1135 क्यूमेक (40,000 क्यूसेक) की जलक्षमता और 38.38 किमी. लंबी फीडर नहर। यह फीडर नहर राष्ट्रीय जलमार्ग सं.-1 का एक भाग है।
फरक्का और जांगीपुर में नौवहन अवसंरचनाएं जैसे- लॉक्स, लॉक चैनल, शेल्टर बेसिन, कंट्रोल टॉवर, नेवीगेशन लाइट्स तथा अन्य अवसंरचनाएं।
फरक्का बैराज के 33.79 कि.मी. बाएं और 7 कि.मी. दाएं एफलक्स बंध, और जांगीपुर बैराज के 16.31 कि.मी. बाएं एफलक्स बंध।

फीडर नहर पर दो सडक-सह-रेल पुल और दो सड़क पुल।
मुर्शिदाबाद और मालदा, दोनों जिलों में विभिन्न स्थानों पर अनेक रेगुलेटर।
फीडर नहर के आर डी 48.00 पर बागमारी साइफन।

बैराज की सुरक्षा के लिए आवश्यक कटावरोधी सुरक्षात्मक कार्य करने के लिए फरक्का बैराज परियोजना के कार्यक्षेत्र को अपस्ट्रीम में दिआरा सहित राजमहल (फरक्का बैराज से 40 किमी.) तक तथा डाउन स्ट्रीम में जलांगी (फरक्का बैराज से 80 किमी.) तक बढा दिया गया है।

फरक्का बैराज के महत्वपूर्ण कार्यकलाप:

संचालन और अनुरक्षण:
फरक्का बैराज और हेड रेगुलेटर
फीडर नहर
फरक्का पर नौवहन लॉक
जांगीपुर बैराज
बाढ़ बचाव कार्य

फरक्का और जांगीपुर पर बैराज के दोनों तटों पर चार गाइड बंधों का अनुरक्षण
एफलुक्स बंधों का अनुरक्षण
निरीक्षण रोड (34 कि.मी.) के साथ बायां एफलुक्स बंध तथा पागला, तूतियानाला, निमजाला, भागीरथीऔर कालिन्दरी में नदी पर कई रेगुलेटर।
दायां एफलुक्स बंध (10 कि.मी.)
नदी तटों की सुरक्षा हेतु फरक्का बैराज के अपस्ट्रीम तट तथा घनी आबादी वाले गांवों की सुरक्षा हेतु तटबंधो का सुरक्षा कार्य और तटबंध के पीछे संचार लाइन की सुरक्षा।

दाहिने तट पर फरक्का बैराज के डाउनस्ट्रीम बाढ़ /बचाव कार्य।
गंगा के दाहिने तट पर स्थित फाज़िलपुर में बाढ़ / बचाव कार्य।
फरक्का बैराज परियोजना टाउनशिप का अनुरक्षण
रिहायशी और गैर-रिहायशी भवनों वाले फरक्का टाउनशिप तथा जांगीपुर (अहीरोन) और केजुरियाघाट में दो अन्य टाउनशिप का अनुरक्षण।
उच्चतम माध्यमिक विद्यालय का अनुरक्षण।
फरक्का बैराज परियोजना अस्पताल का अनुरक्षण।
फेरी सेवाएं
फीडर नहर/ लॉक चैनल के विभिन्न स्थानों पर तटों के दोनों ओर रहने वाले ग्रामीणों के लिए संप्रेषण हेतु फेरी सेवा।

Similar Posts

Leave a Reply