| |

India is the largest producer and exporter of / भारत किसका सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है?

India is the largest producer and exporter of / भारत किसका सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है?

 

(1) Cotton / कपास
(2) Copper / तांबा
(3) Tea / चाय
(4) Mica / मीका

(SSC CHSL (10+2) DEO & LDC Exam. 09.11.2014)

Answer / उत्तर : –

(4) Mica / मीका

 

Mica - Minerals Education Coalition

 

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

India is not only the largest producer but also the largest exporter of mica in the world. Andhra Pradesh is the largest producer of mica (Geography of India by Majid Hussain). It is the second largest producer and exporter of tea after China in the world.

Mica production in india

Andhra Pradesh and Rajasthan are the major states (most mica producing states) in the production of this mineral. It extends from Gaya district in the west to the district of Hazaribagh and Munger in the east to Bhagalpur district in the east with a length of about 90 miles and a width of 12-16 miles. Its most productive area is confined to Koderma and surrounding areas. The best type of red (ruby) mica is found in Bihar, for which this state is famous all over the world.

Andhra Pradesh, which is one of the most mica producing states in India, is situated in the middle of the confluence and far away of Nellore district of Nellore district. Rajasthan ranks second in the production of Indian mica. The mica belt of Rajasthan extends from Jaipur to Udaipur and pigments are found in it.

Use:

Its thin layers also have the ability to hold electricity (a poor conductor of electricity) and due to which it is used in many electrical devices like condenser, commutator, telephone, dynamo etc.

Due to being transparent and insulating (a bad conductor of heat), it is used in lamp chimneys, stoves, furnaces etc.

Small pieces of it are used in the rubber industry, for making colours, for lubrication in machines and for decoration of scales etc.

Its ash is a very popular medicine in Ayurveda medicine, which is used in the diagnosis of diseases like tuberculosis, prameha, stones etc.

भारत विश्व के लगभग 90% अभ्रक का उत्पादन करता है। यह विद्युत उद्योग का एक अनिवार्य घटक है। भारत में अंतरराष्ट्रीय व्यापार में शामिल होने वाले अभ्रक का 60% हिस्सा है।

भारत न केवल सबसे बड़ा उत्पादक है बल्कि विश्व में अभ्रक का सबसे बड़ा निर्यातक भी है। आंध्र प्रदेश अभ्रक का सबसे बड़ा उत्पादक है (माजिद हुसैन द्वारा भारत का भूगोल)। यह दुनिया में चीन के बाद चाय का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है।

भारत में अभ्रक उत्पादन

इस खनिज के उत्पादन में आन्ध्रप्रदेश और राजस्थान प्रमुख राज्य (सर्वाधिक अभ्रक उत्पादक राज्य) है। बिहार की यह पश्चिम में गया जिले से हजारीबाग तथा मुंगेर होती हुई पूरब में भागलपुर जिले तक लगभग ९० मील की लंबाई और १२-१६ मील की चौड़ाई में फैली हुई है। इसका सर्वाधिक उत्पादक क्षेत्र कोडर्मा तथा आसपास के क्षेत्रों में सीमित है। बिहार में सबसे अच्छे प्रकार का लाल (रूबी) अभ्रक पाया जाता है जिसके लिए यह प्रदेश संपूर्ण संसार में प्रसिद्ध है।

आंध्र प्रदेश जो कि सर्वाधिक अभ्रक उत्पादक राज्य (mica producing states in india) में से है, के नेल्लोर जिले की पेटिका दूर तथा संगम के मध्य स्थित है। भारतीय अभ्रक के उत्पादन में राजस्थान का द्वितीय स्थान है। राजस्थान की अभ्रक पेटिका जयपुर से उदयपुर तक फैली है तथा उसमें पिगमेटाइट मिलते हैं।

उपयोग:

इसकी पतली-पतली परतों में भी विद्युत्‌ रोकने की क्षमता होती है (विद्युत्‌ का कुचालक) और जिसके कारण इसका उपयोग अनेक बिजली के उपकरणों जैसे कंडेंसर, कम्यूटेटर, टेलीफोन, डायनेमो आदि में होता है।

पारदर्शक तथा तापरोधक (ऊष्मा का कुचालक) होने के कारण यह लैंप की चिमनी, स्टोव, भट्ठियों आदि में प्रयुक्त होता है।

इस के छोटे-छोटे टुकड़े रबड़ उद्योग में, रंग बनाने में, मशीनों में चिकनाई देने के लिए तथा मानपत्रों आदि की सजावट के काम आते हैं।

आयुर्वेद चिकित्सा में इसके भस्म काफी प्रचलित औषधि है जो क्षय, प्रमेह, पथरी आदि रोगों के निदान में प्रयुक्त होती है।

 

Similar Posts

Leave a Reply