Geography | GK | GK MCQ

The Gir Forest is noted for its / गिर वन अपने के लिए विख्यात है

The Gir Forest is noted for its / गिर वन अपने के लिए विख्यात है

 

(1) Lion sanctuary / सिंह अभयारण्य
(2) Deer Park / हिरण पार्क
(3) Tiger sanctuary / हिरण पार्क
(4) Crocodile Park / मगरमच्छ पार्क

(SSC CPO Sub-Inspector Exam. 09.11.2008)

Answer / उत्तर : – 

(1) Lion sanctuary / सिंह अभयारण्य

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

The Gir Forest National Park and Wildlife Sanctuary s the sole home of the pure Asiatic Lions (Panthera leo persica) and is considered to be one of the most important protected areas in Asia due to its supported species. The April 2010 census recorded the lion-count in Gir at 411, an increase of 52 compared to 2005. The lion breeding programme covering the park and surrounding area has bred about 180 lions in captivity since its inception.

Gir Wildlife Sanctuary is a national park and wildlife sanctuary located in the state of Gujarat, India, which is known for being the only habitat of lions in Asia. The Gir Sanctuary is spread over an area of ​​1424 sq km, of which 258 sq km is a national park and 1153 sq km is a wildlife reserve. Apart from this, there is Mitiyala Wildlife Sanctuary nearby which is spread over 18.22 kms. Both these reserve extensions are part of Junagadh, Amreli and Gir Somnath districts in Gujarat. This park and sanctuary for Simhadarshan is the center of attraction for migrants in the world. To deal with the problem of declining number of lions in the world and to protect the Asiatic lions, this extension was declared as the only habitat of lions. After Africa in the world, only lions are left in this expansion. The Gir forest was declared a wildlife sanctuary in 1969 and six years later it was expanded to 140.4 square kilometers and established as a national park. This sanctuary has now expanded to about 258.71 square kilometers. As a result of many efforts to provide protection to wildlife, the number of lions in this sanctuary has increased to 312 now.

गिर वन राष्ट्रीय उद्यान और वन्यजीव अभयारण्य शुद्ध एशियाई शेरों (पैंथेरा लियो पर्सिका) का एकमात्र घर है और इसकी समर्थित प्रजातियों के कारण इसे एशिया में सबसे महत्वपूर्ण संरक्षित क्षेत्रों में से एक माना जाता है। अप्रैल 2010 की जनगणना में गिर में शेरों की संख्या 411 दर्ज की गई, जो 2005 की तुलना में 52 की वृद्धि है। पार्क और आसपास के क्षेत्र को कवर करने वाले शेर प्रजनन कार्यक्रम ने अपनी स्थापना के बाद से लगभग 180 शेरों को कैद में रखा है।

गिर वन्यजीव अभयारण्य भारत के गुजरात में राज्य स्थित राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यप्राणी अभयारण्य है, जो एशिया में सिंहों का एकमात्र निवास स्थान होने के कारण जाना जाता है। गिर अभयारण्य १४२४ वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है जिसमें, २५८ वर्ग किलोमीटर में राष्ट्रीय उद्यान और ११५३ वर्ग किलोमीटर वन्यप्राणियों के लिए आरक्षित अभयारण्य विस्तार है। इसके अतिरिक्त पास में ही मितीयाला वन्यजीव अभयारण्य है जो १८.२२ किलोमीटर में फैला हुआ है। ये दोनों आरक्षित विस्तार गुजरात में जूनागढ़, अमरेली और गिर सोमनाथ जिले के भाग है। सिंहदर्शन के लिए ये उद्यान एवं अभयारण्य विश्व में प्रवासियों के लिए आकर्षण का केंद्र है। विश्व में सिंहों की कम हो रही संख्या की समस्या से निपटने और एशियाटिक सिंहों के रक्षण हेतु सिंहों के एकमेव निवासस्थान समान इस विस्तार को आरक्षित घोषित किया गया था। विश्व में अफ़्रीका के बाद इसी विस्तार में सिंह बचे हैं। गिर के जंगल को सन् १९६९ में वन्य जीव अभयारण्य घोषित किया गया और इसके छह वर्ष बाद इसका १४०.४ वर्ग किलोमीटर में विस्तार करके इसे राष्ट्रीय उद्यान के रूप में स्थापित कर दिया गया। यह अभ्‍यारण्‍य अब लगभग २५८.७१ वर्ग किलोमीटर तक विस्तृत हो चुका है। वन्य जीवों को संरक्षण प्रदान करने के कई प्रयासों के फलस्वरूप इस अभ्यारण्य में शेरों की संख्या बढकर अब ३१२ हो गई है।

Similar Posts

Leave a Reply