| |

The polymer obtained by the condensation of hexamethylene diamine and adipic acid is / हेक्सामेथिलीन डायमाइन और एडिपिक एसिड के संघनन द्वारा प्राप्त बहुलक है

The polymer obtained by the condensation of hexamethylene diamine and adipic acid is / हेक्सामेथिलीन डायमाइन और एडिपिक एसिड के संघनन द्वारा प्राप्त बहुलक है

(1) Nylon 66  / नायलॉन 66 (2) Terylene / टेरीलीन
(3) Tollen’s  / टॉलेन  (4) Bakelite / बैकेलाइट

Answer / उत्तर :-

(1) Nylon 66  / नायलॉन 66

Explanation / व्याख्या :-

Polymers are very high molecular mass substances each molecule of which consists of very large number of simple structural units joined together though covalent bonds in a regular fashion. Polymers whose repeating structural unit are derived from two or more types of monomer units are called copolymers. For examples, in case of nylon 66, the repeating structural unit is derived from two monomer units – hexamethylenediamine and adipic acid/ पॉलिमर बहुत अधिक आणविक द्रव्यमान वाले पदार्थ होते हैं, जिनमें से प्रत्येक अणु में बहुत बड़ी संख्या में सरल संरचनात्मक इकाइयाँ होती हैं, जो नियमित रूप से सहसंयोजक बंधों से जुड़ी होती हैं। पॉलिमर जिनकी दोहराई जाने वाली संरचनात्मक इकाई दो या दो से अधिक प्रकार की मोनोमर इकाइयों से प्राप्त होती है, कोपोलिमर कहलाती है। उदाहरण के लिए, नायलॉन 66 के मामले में, दोहराई जाने वाली संरचनात्मक इकाई दो मोनोमर इकाइयों से प्राप्त होती है – हेक्सामेथिलीनडायमाइन और एडिपिक एसिड

Similar Posts

Leave a Reply