Geography | GK | GK MCQ

The position of Indian Railways network in the world is / विश्व में भारतीय रेल नेटवर्क की स्थिति है

The position of Indian Railways network in the world is / विश्व में भारतीय रेल नेटवर्क की स्थिति है

 

(1) second / सेकेंड
(2) third / तीसरा
(3) fourth / चौथा
(4) fifth / पांचवां

(SSC Combined Graduate Level Tier-I Exam. 19.06.2011)

Answer / उत्तर : –

(3) fourth / चौथा

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

Rail transport is a commonly used mode of longdistance transportation in India. It is the 4th largest railway network in the world, transporting over 10 billion passengers and over 1050 million tonnes of freight annually. Its operations cover twenty eight states and three union territories and also provide limited service to Nepal, Bangladesh and Pakistan.

Railways in India is not just a service, but a very big system, for which there is also a separate ministry. In 2013, India has won in terms of passenger service, while America has left everyone behind in terms of freight service. Let us know about the five largest rail networks in the world.

1- America

The US rail network is the largest rail network in the world. Its total length is 2,50,000 km. Of this, only 35,000 km for passengers, the remaining 80 per cent for passengers, is on freight lines.

There are about 538 railroads in freight rail, out of which 7 are class-I, 21 are regional and 510 are local railroads. Let us tell you that all these run private organizations. There is also a plan to build a national high speed rail system of 27,000 thousand km by 2030 in four phases in the country.

2 – China 

With a length of 100,000 km, China has ranked second in terms of rail network. This rail network is operated by the China Railway Corporation, which served 2.08 billion people in 2013, the second highest figure after Indian Railways.

On the other hand, China Railway Corporation carried 3.22 billion tonnes of freight in 2013, the second highest figure after the US rail network. Rail is the primary means of transport in China.

90,000 km of the country’s railways is normal, while 10,000 km is high-speed train. There are plans to expand China’s rail network to 270,000 km by 2050.

3 – Russia 

With a rail network of 85,500 km, Russia is the country with the third largest rail network. It is operated by the Russian Railways. In 2013, Russian Railways served about 1.08 billion passengers and carried about 1.2 billion tonnes of freight, the third-highest figure behind the US and China.

The Russian Railways mainly consists of 12 lines, most of which are directly connected to the railway systems of the European and Asian countries. Among them are Finland, France, Germany, Poland, China, Mongolia and North Korea.

The Trans-Siberian Railway (Moscow to Vladivostok) line is one of the longest and busiest lines in the world with 9,289 km.

4 – India 

India’s rail network is 65,000 km long, operated by the Indian Railways, which is under the government. In 2013, Indian Railways served about 8 billion passengers, the highest in the world. On the other hand, India ranks fourth in the world in terms of freight traffic with around 1.01 million tonnes.

The Indian Railways network is divided into 17 zones, under which about 19,000 trains run daily.

Of these, there are about 12,000 passenger trains and about 7,000 freight trains. India is planning to add 4,000 km of new rail lines by 2017.
5th place is Canada

Canada’s rail network is the fifth largest rail network in the world. Its total length is 48,000 km. Passenger rail service in the country is about 12,500 km, which is operated by ‘Via Rail’.

The Canadian National Railway and the Canadian Pacific Railway are the two major rail networks in the country that serve freight.

The Algoma Central Railway and the Ontario Northland Railway are the shortest rail lines in the country, serving some rural areas. Montreal, Toronto and Vancouver are the three cities with a large rail system.

रेल परिवहन भारत में लंबी दूरी के परिवहन का आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला साधन है। यह दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है, जो सालाना 10 अरब से अधिक यात्रियों और 1050 मिलियन टन से अधिक माल ढुलाई करता है। इसके संचालन में अट्ठाईस राज्य और तीन केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं और नेपाल, बांग्लादेश और पाकिस्तान को भी सीमित सेवा प्रदान करते हैं।

भारत में रेलवे सिर्फ एक सेवा नहीं, बल्कि एक बहुत ही बड़ी व्यवस्था है, जिसके लिए अलग से मंत्रालय भी है। 2013 में यात्री सेवा के मामले में भारत ने बाजी मारी है, जबकि फ्रेट सेवा के मामले में अमेरिका ने सबको पीछे छोड़ दिया है। आइए जानते हैं दुनिया के पांच सबसे बड़े रेल नेटवर्क के बारे में।

world top 5 railway network, indian railway ranks on 3 no, special stories on union rail budget2

1- अमेरिका

अमेरिका का रेल नेटवर्क दुनिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। इसकी कुल लंबाई 2,50,000 किलोमीटर है। इसमें से यात्रियों के लिए सिर्फ 35,000 किलोमीटर हिस्सा यात्रियों के लिए बाकी का करीब 80 फीसदी हिस्सा फ्रेट लाइनों का है।

यहां पर फ्रेट रेल में करीब 538 रेलरोड हैं, जिनमें 7 क्लास-1, 21 रीजनल और 510 लोकल रेलरोड हैं। आपको बता दें कि ये सभी प्राइवेट ऑर्गेनाइजेशन चलाते हैं। देश में चार चरणों में 2030 तक 27,000 हजार किलोमीटर का नेशनल हाई स्पीड रेल सिस्टम बनाने की भी योजना है।

2 – चीन  

world top 5 railway network, indian railway ranks on 3 no, special stories on union rail budget2

 

1,00,000 किलोमीटर की लंबाई के साथ चीन ने रेल नेटवर्क के मामले में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। यह रेल नेटवर्क चीन रेलवे कॉरपोरेशन संचालित करता है, जिसने 2013 में 2.08 अरब लोगों को रेल सेवाएं दी, जो कि भारतीय रेलवे के बाद दूसरा सबसे अधिक आंकड़ा है।

वहीं दूसरी ओर 2013 में चीन रेलवे कॉरपोरेशन ने 2013 में 3.22 अरब टन फ्रेट की ढुलाई की है, जो अमेरिका के रेल नेटवर्क के बाद दूसरा सबसे अधिक आंकड़ा है। चीन में रेल यातायात का प्राथमिक साधन है।

देश की रेल का 90,000 किलोमीटर का हिस्सा सामान्य है, जबकि 10,000 किलोमीटर का हिस्सा हाई स्पीड ट्रेन का है। 2050 तक चीन के रेल नेटवर्क को बढ़ाकर 2,70,000 किलोमीटर तक करने की योजना है।

3 – रशिया

world top 5 railway network, indian railway ranks on 3 no, special stories on union rail budget3

 

85,500 किलोमीटर के रेल नेटवर्क के साथ रूस तीसरे सबसे बड़े रेल नेटवर्क वाला देश है। इसे रशियन रेलवे संचालित करता है। 2013 में रशियन रेलवे ने करीब 1.08 अरब यात्रियों को सेवा दी थी और करीब 1.2 अरब टन माल की ढुलाई की थी, जो अमेरिका और चीन के बाद तीसरा सबसे अधिक आंकड़ा है।

रशियन रेलवे में मुख्य रूप से 12 लाइनें हैं, जिनमें से अधिकतर सीधे यूपियन और एशियन देशों के रेलवे सिस्टम से जुड़ी हैं। इनमें फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, पोलैंड, चीन, मंगोलिया और उत्तरी कोरिया प्रमुख हैं।

ट्रांस साइबेरियन रेलवे (मॉस्को से व्लादिवोस्टक) लाइन 9,289 किलोमीटर के साथ दुनिया की सबसे लंबी और व्यत रहने वाली लाइनों में से एक है।

 4- भारत

world top 5 railway network, indian railway ranks on 3 no, special stories on union rail budget4

भारत का रेल नेटवर्क 65,000 किलोमीटर लंबा है, जिसे भारतीय रेलवे संचालित करता है, जो सरकार के अधीन है। 2013 में भारतीय रेलवे ने करीब 8 अरब यात्रियों को सेवाएं दी हैं, जो दुनिया में सबसे अधिक है। वहीं दूसरी ओर माल ढुलाई के मामले में भारत करीब 1.01 मिलियन टन के साथ दुनिया में चौथे स्थान पर है।

भारतीय रेल नेटवर्क 17 जोन में बंटा हुआ ह, जिनके तहत रोजना करीब 19,000 ट्रेन चलती हैं।

इनमें करीब 12,000 पैसेंजर ट्रेन और करीब 7,000 फ्रेट ट्रेन हैं। भारत 2017 तक इसमें 4,000 किलोमीटर की नई रेल लाइन जोड़ने की योजना बना रहा है।

5 – कनाडा  

world top 5 railway network, indian railway ranks on 3 no, special stories on union rail budget5

 

दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा रेल नेटवर्क कनाडा का रेल नेटवर्क है। इसकी कुल लंबाई 48,000 किलोमीटर है। देश में यात्री रेल सेवा करीब 12,500 किलोमीटर की है, जो ‘वाया रेल’ की तरफ से संचालित की जाती है।

कनैडियन नेशनल रेलवे और कनैडियन पैसिफिक रेलवे देश के दो प्रमुख ऐसे रेल नेटवर्क हैं, जो फ्रेट की सेवा प्रदान करते हैं।

एल्गोमा सेंट्रल रेलवे और ऑन्टेरियो नॉर्थलैंड रेलवे देश की सबसे छोटी रेल लाइनें हैं जो कुछ ग्रामीण इलाकों में सेवाएं प्रदान करती हैं। मोंटरियल, टोरंटो और वैंकोवेर तीन ऐसे शहर हैं, जहां काफी बड़ा रेल सिस्टम है।

 

Similar Posts

Leave a Reply