| |

The river Ganga has two major sources— / गंगा नदी के दो प्रमुख स्रोत हैं-

The river Ganga has two major sources— / गंगा नदी के दो प्रमुख स्रोत हैं-

 

(1) Bhagirathi and Alaka-nanada / भागीरथी और अलका-ननद
(2) Bhagirathi and Yamuna / भागीरथी और यमुना
(3) Bhagirathi and Saraswati / भागीरथी और सरस्वती
(4) Alakananda and Gandak / अलकनंदा और गंडकी

(SSC Combined Matric Level (PRE) Exam. 21.05.2000)

Answer / उत्तर : – 

(1) Bhagirathi and Alaka-nanada / भागीरथी और अलका-ननद

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

 

The name Ganges is used for the river between the confluence of the Bhagirathi and Alaknanda rivers, in the Himalayas, and the India-Bangladesh border, near the Farakka Barrage and the first bifurcation of the river. The river’s source is usually assumed to be the source of the Bhagirathi River, Gangotri Glacier at Gomukh, and its mouth being the mouth of the Meghna River on the Bay of Bengal. Sometimes the source of the Ganges is considered to be at Haridwar, where its Himalayan headwater streams debouch onto the Gangetic Plain.

The Ganges, a solid transboundary river of Asia, flows into India and Bangladesh. In the state of Uttarakhand, India, after flowing from Gangotri on the Himalayan mountain, it flows in the Bisal plains and merges into the sea in the Bay of Bengal. According to the total water released by the river into the sea, it should be the third largest river in the world.

From the Himalayas on its way to the Ganges, by laying the sand-soil, the Ago Bisal plain was built, and on the name of the Ehi of Jekra, it was called the Gangetic plain. The plains are very fertile, that’s why there has been a settlement of population since ancient times. Today is the world’s most densely populated area. On the banks of the Ganges, many major cities of India and Bangladesh come to Basal. Rishikesh, Haridwar, Kannauj, Kanpur, Allahabad, Banaras, Baliyan, Patna, Calcutta and Dhaka are near the banks of the river Ehi.

In Hinduism, the goddess of the Ganges is worshiped in the form of Aa Mai. It is believed that in the Ganges, I got reward from Asnan Kaila and my sins were cut off. On the banks of the Ganges, many holy fairs come and take bath. In the world’s biggest fair, Prayag’s Kumbh Ganga and Yamuna Aa Katha will be held at the confluence of the river Saraswati.

The Ganga plains and the Aker Thala should also be important for the sake of environment and animals. In the Ganges, many types of fishes come and bibidh water creatures pawl nets. Ganges dolphins and Irrawaddy dolphins are in danger of extinction in the Eh river. In the case of ecology and ecology of the Ganges delta, the Sundarbans, a ginal network of importance for the whole world.

According to the Isle Ago report in 2007, Oh Samay Ganga was the fifth most polluted river in the world. The Government of India should take action plan on Ganga for the sake of reducing pollution. At present, for the sake of Narendra Modi’s government, the Namami Gange project is being run by Namami Gange.

गंगा नाम का उपयोग हिमालय में भागीरथी और अलकनंदा नदियों के संगम और फरक्का बैराज के पास भारत-बांग्लादेश सीमा और नदी के पहले विभाजन के बीच नदी के लिए किया जाता है। नदी का स्रोत आमतौर पर गोमुख में भागीरथी नदी, गंगोत्री ग्लेशियर का स्रोत माना जाता है, और इसका मुंह बंगाल की खाड़ी पर मेघना नदी का मुहाना है। कभी-कभी गंगा का स्रोत हरिद्वार में माना जाता है, जहां इसका हिमालयी हेडवाटर गंगा के मैदान में बहता है।

गंगा एशिया के एक ठो अंतरसीमांत नदी बिया जवन भारत आ बांग्लादेस में बहे ले। भारत की उत्तराखंड राज्य में, हिमालय पहाड़ पर स्थित गंगोत्री से निकल के बिसाल मैदानी इलाका में बहे के बाद बंगाल की खाड़ी में समुंद्र में मिल जाले। समुंद्र में नदिन द्वारा कुल छोड़ल जाये वाला पानी के हिसाब से ई दुनिया के तीसरी सभसे बड़ नदी हवे।

गंगा अपना रस्ता में हिमालय से ले आइल बालू-माटी के बिछा के एगो बिसाल मैदान बनावे ले जेकरा के एही की नाँव पर गंगा के मैदान कहल जाला। ई मैदान बहुत उपजाऊ हवे आ एही कारण इहाँ प्राचीन काल से जनसंख्या के बसाव भइल। आजु ई दुनिया के सबसे घन बस्ती वाला क्षेत्र हवे। गंगा की तीर पर भारत आ बांग्लादेस के कई ठो प्रमुख शहर बसल बाड़ें। ऋषिकेश, हरिद्वार, कन्नौज, कानपुर, इलाहाबाद, बनारस, बलियाँ, पटना, कलकत्ता आ ढाका नियर शहर एही नदी के तीरे बसल बाने।

हिंदू धर्म में गंगा के देवी आ माई की रूप में पूजल जाला। अइसन मानल जाला कि गंगा में अस्नान कइला से पुन्य मिलेला आ सगरी पाप कट जाला। गंगा की किनारे कई पबित्र तिथिन के मेला आ नहान लागे ला। दुनिया के सभसे बड़ मेला प्रयाग के कुंभ गंगा आ यमुना आ कथा में बर्णित नदी सरस्वती के संगम पर लागेला।

गंगा के मैदान आ एकर थाला पर्यावरण आ जीव जंतु खातिर भी महत्व वाला हवे। गंगा में कई प्रकार के मछरी आ अउरी बिबिध जलजीव पावल जालें। एह नदी में सूँस के दू गो प्रजाति गंगा डाल्फिन आ इरावदी डाल्फिन पावल जालीं जे एह समय बिलुप्त होखे के खतरा में बाड़ीं। गंगा के डेल्टा सुंदरबन पर्यावरण आ पारिस्थितिकी की मामिला में पूरा दुनिया खातिर महत्व वाला गिनल जाला।

साल 2007 में आइल एगो रपट की मोताबिक ओह समय गंगा दुनिया के पाँचवी सभसे प्रदूषित नदी रहे। भारत सरकार एकरा प्रदूषण के कम करे खातिर गंगा कार्ययोजना चलवलस बाकी ई बहुत सफल ना भइल। वर्तमान में नरेन्द्र मोदी के सरकार एकरा खातिर नमामि गंगे नाँव से एगो परियोजना चला रहल बाटे।

 

Similar Posts

Leave a Reply