| |

What is approximately the percentage of forest cover in India? / भारत में वनावरण का लगभग प्रतिशत कितना है?

What is approximately the percentage of forest cover in India? / भारत में वनावरण का लगभग प्रतिशत कितना है?

 

(1) 10%
(2) 8.5%
(3) 25%
(4) 19.5%

(SSC Combined Matric Level (PRE) Exam. 24.10.1999)

Answer / उत्तर : – 

 

The India Forest Status Report (ISFR) is the 16th biennial assessment of the Forest Survey of India (FSI) under the Ministry of Environment, Forest and Climate Change (MoEFCC). Forest Survey of India Forest Fringe Villages on Forest Areas and Tree Outside Forest- TOF, Bamboo Resources, Carbon Stock Estimation, Fuel, Fodder, Small Timber etc. Implements the National Forest Inventory to assess the dependence of its residents. A new chapter named ‘Forest Types and Biodiversity’ has been added to the current ISFR, under which tree species are divided into 16 main classes and their ‘Champion & Seth Classification’ (Champion & Seth Classification). ), 1968 will be assessed.

main point
The total area covered by forests and trees in the country is 8,07,276 sq.km. Which is 24.56% of the total geographical area.
The forest cover area of ​​the total geographical area is 7,12,249 sq. km. Which is 21.67% of the total geographical area.
The tree cover area of ​​the total geographical area is 95,027 sq. km. Which is 2.89% of the total geographical area.
There has been an increase in the forest area under the current assessment as compared to ISFR 2017.
A total of 5,188 sq km in forest cover and tree cover area. (0.65%) has increased.
Increase in forest cover – 3,976 sq. km. (0.56%)
Increase in the area covered by trees – 1,212 sq.km. (1.29%)
There is a change in the Recorded Forest Area/Green Wash (RFA/GW) as compared to the previous assessment for the year 2017.
330 sq km in forest cover within the RFA/GW. (0.05%) has decreased slightly.
4306 sq. km. in forest cover outside RFA/GW. has increased.
Top five states in terms of increase in forest cover: Karnataka>Andhra Pradesh>Kerala>J&K>Himachal Pradesh.
The forest cover in the hill districts is 40.30% of the total geographical area of ​​these districts. 544 sq km in 140 hill districts of the country. (0.19%) has increased.

The total forest area in the tribal districts is 37.54% of the geographical area of ​​these districts.
The total forest area in the North Eastern region is 65.05% of their geographical area. In the present assessment, the forest cover of this area covers 765 sq.km. (0.45%) decreased. Barring Assam and Tripura, the forest cover has decreased in all the states of the country.
The mangrove cover of the country has increased by 1.10% as compared to the previous estimate.
62,466 wetlands in India cover about 3.83% of the country’s RFA/GW area. Among the Indian states, Gujarat has the highest wetland area under RFA, while West Bengal ranks second.
The dependence on forests for fuel is highest in the state of Maharashtra, while the dependence for fodder, small timber and bamboo is highest in Madhya Pradesh.

भारत वन स्थिति रिपोर्ट (ISFR) पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (MoEFCC) के अधीन कार्यरत भारतीय वन सर्वेक्षण (Forest Survey of India- FSI) का 16वाँ द्विवार्षिक आकलन है। भारतीय वन सर्वेक्षण वन क्षेत्रों एवं वन क्षेत्रों के बाहर के वृक्ष क्षेत्रों (Tree Outside Forest- TOF), बाँस के संसाधनों, कार्बन स्टॉक के आकलन, ईंधन, चारे, लघु इमारती लकड़ी (Small Timber) आदि पर वन सीमांत ग्रामों (Forest Fringe Villages) के निवासियों की निर्भरता का आकलन करने के लिये राष्ट्रीय वन सूची (National Forest Inventory) कार्यान्वित करता है। वर्तमान ISFR में ‘वनों के प्रकार एवं जैव-विविधता’ (Forest Types and Biodiversity) नामक एक नए अध्याय को जोड़ा गया है जिसके अंतर्गत वृक्षों की प्रजातियों को 16 मुख्य वर्गों में विभाजित कर उनका ‘चैंपियन एवं सेठ वर्गीकरण’ (Champion & Seth Classification), 1968 के आधार पर आकलन किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

देश में वनों एवं वृक्षों से आच्छादित कुल क्षेत्रफल 8,07,276 वर्ग किमी. है जो कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 24.56% है।
कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का वनावरण क्षेत्र 7,12,249 वर्ग किमी. है जो कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 21.67% है।
कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का वृक्षावरण क्षेत्र 95,027 वर्ग किमी. है जो कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 2.89% है।
ISFR 2017 की तुलना में वर्तमान आकलन के अंतर्गत वन क्षेत्र में वृद्धि देखी गई है।
वनावरण और वृक्षावरण क्षेत्रफल में कुल 5,188 वर्ग किमी. (0.65%) की वृद्धि हुई है।
वनाच्छादित क्षेत्रफल में वृद्धि – 3,976 वर्ग किमी. (0.56%)
वृक्षों से आच्छादित क्षेत्रफल में वृद्धि – 1,212 वर्ग किमी. (1.29%)
वर्ष 2017 के पिछले आकलन की तुलना में रिकॉर्डेड फॉरेस्ट एरिया/ग्रीन वॉश (RFA/GW) में परिवर्तन आया है।
RFA/GW के भीतर वनावरण में 330 वर्ग किमी. (0.05%) की मामूली कमी आई है।
RFA/GW के बाहर वनावरण में 4306 वर्ग किमी. की वृद्धि हुई है।
वनावरण में वृद्धि के मामले में शीर्ष पाँच राज्य: कर्नाटक> आंध्र प्रदेश> केरल> जम्मू-कश्मीर> हिमाचल प्रदेश।
पर्वतीय ज़िलों में वनावरण इन ज़िलों के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 40.30% है। देश के 140 पर्वतीय ज़िलों में 544 वर्ग किमी. (0.19%) की वृद्धि हुई है।
जनजातीय ज़िलों में कुल वन क्षेत्र इन ज़िलों के भौगोलिक क्षेत्र का 37.54% है।
उत्तर पूर्वी क्षेत्र में कुल वन क्षेत्र इनके भौगोलिक क्षेत्र का 65.05% है। वर्तमान आकलन में इस क्षेत्र के वनावरण में 765 वर्ग किमी. (0.45%) की कमी देखी गई है। असम और त्रिपुरा को छोड़कर, देश के सभी राज्यों के वनावरण में कमी आई है।

देश के मैंग्रोव (Mangrove) आवरण में पिछले आकलन की तुलना में 1.10% की वृद्धि हुई है।
भारत में 62,466 आर्द्रभूमियाँ देश के RFA/GW क्षेत्र के लगभग 3.83% क्षेत्र को कवर करती हैं। भारतीय राज्यों में गुजरात का सर्वाधिक आर्द्रभूमि क्षेत्र RFA के अंतर्गत आता है जबकि पश्चिम बंगाल दूसरे स्थान पर है।
वनों पर ईंधन के लिये निर्भरता महाराष्ट्र राज्य में सबसे अधिक है, जबकि चारे, लघु इमारती लकड़ी और बाँस के लिये निर्भरता मध्य प्रदेश में सबसे अधिक है।

Similar Posts

Leave a Reply