GK MCQ | Indian polity

Who holds the highest law office in India? / भारत में सर्वोच्च विधि कार्यालय किसके पास है?

Who holds the highest law office in India? / भारत में सर्वोच्च विधि कार्यालय किसके पास है?

(1) Attorney General / अटॉर्नी जनरल
(2) Accountant General / महालेखाकार
(3) Lieutenant General / लेफ्टिनेंट जनरल
(4) Solicitor General / सॉलिसिटर जनरल

(SSC CAPFs (CPO) SI & ASI,Delhi Police SI Exam. 05.06.2016)

Answer / उत्तर :-

(1) Attorney General / अटॉर्नी जनरल

Explanation / व्याख्या :-

The Attorney General is highest law officer in India.He is the Indian government’s chief legal advisor, and its primary lawyer in the Supreme Court of India. He has the right of audience in all Courts in India as well as the right to participate in the proceedings of the Parliament, though not to vote.
Note : The Attorney General of India is the Indian government’s chief legal advisor, and its primary lawyer in the Supreme Court of India. He is appointed by the President of India under Article 76(1) of the Constitution and holds office during the pleasure of the President. The Attorney General has the right of audience in all Courts in India as well as the right to participate in the proceedings of the Parliament, though not to vote. The 14th and current Attorney General is Mukul Rohatgi.

अटॉर्नी जनरल भारत में सर्वोच्च कानून अधिकारी है। वह भारत सरकार के मुख्य कानूनी सलाहकार और भारत के सर्वोच्च न्यायालय में इसके प्राथमिक वकील हैं। उसे भारत के सभी न्यायालयों में सुनवाई का अधिकार है और साथ ही संसद की कार्यवाही में भाग लेने का अधिकार है, हालांकि मतदान नहीं करना है।
नोट: भारत का महान्यायवादी भारत सरकार का मुख्य कानूनी सलाहकार है, और भारत के सर्वोच्च न्यायालय में इसका प्राथमिक वकील है। वह संविधान के अनुच्छेद 76(1) के तहत भारत के राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त किया जाता है और राष्ट्रपति के प्रसाद पर्यंत पद धारण करता है। अटॉर्नी जनरल को भारत के सभी न्यायालयों में सुनवाई का अधिकार है और साथ ही संसद की कार्यवाही में भाग लेने का अधिकार है, हालांकि वोट नहीं देना है। 14वें और वर्तमान अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी हैं।

Similar Posts

Leave a Reply