| |

Why does the west coast of India receive more rainfall from southwest monsoon than the east coast? / भारत के पश्चिमी तट पर पूर्वी तट की तुलना में दक्षिण-पश्चिम मानसून से अधिक वर्षा क्यों होती है?

Why does the west coast of India receive more rainfall from southwest monsoon than the east coast? / भारत के पश्चिमी तट पर पूर्वी तट की तुलना में दक्षिण-पश्चिम मानसून से अधिक वर्षा क्यों होती है?

 

(1) Unlike the east coast this coast is straight / पूर्वी तट के विपरीत यह तट सीधा है
(2) The Western Ghats obstruct the winds causing rainfall / पश्चिमी घाट वर्षा का कारण बनने वाली हवाओं को बाधित करते हैं
(3) The east coast is broader than the west coast / पूर्वी तट पश्चिमी तट की तुलना में चौड़ा है
(4) The Eastern Ghats extend parallel to wind direction / पूर्वी घाट हवा की दिशा के समानांतर फैले हुए हैं

(SSC CGL Tier-I (CBE) Exam. 11.09.2016)

Answer / उत्तर : – 

(2) The Western Ghats obstruct the winds causing rainfall / पश्चिमी घाट वर्षा का कारण बनने वाली हवाओं को बाधित करते हैं

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

 

The western side of the Western Ghats rise majestically to over 2500 meters above mean sea level to capture the Arabian sea branch of moisture laden southwest monsoon winds. The location of these mountain ranges is such that the South-West Monsoon that break over the southernmost tip of the peninsula during the last week of May, block the winds and they steadily rise against the mountain to condense rapidly and give copious rains on the western side. Consequently, the eastern side is typically known as the rain shadow region.

1. The Arabian Sea air when it climbs the slopes of the Western Ghats with an altitude of 900-1200 meters but soon it calms down and as a result, the Western Ghats receive heavy rainfall between 250 cm and 400 cm. When these winds move towards the Eastern Ghats, their strength and humidity decrease, due to which there is less rain here.

2. The Western Ghats block the rain-bearing winds from its western slopes, due to which there is heavy rainfall. Whereas the South-West Monsoon departs parallel to the Eastern Ghats as there are no steep slopes blocking the moisture-laden winds.

3. The Western Ghats lie in the rain shadow region of the Arabian Sea branch of the Southwest Monsoon, while the Eastern Ghats lie in the rain shadow region of the Arabian Sea branch of the Southwest Monsoon.

4. The Western Ghats have a gentle slope which provides a large area for sunlight absorption whereas the Eastern Ghats have asymmetrical slopes.

पश्चिमी घाट का पश्चिमी भाग समुद्र तल से 2500 मीटर से अधिक की ऊंचाई पर शानदार ढंग से ऊपर उठता है ताकि नमी से लदी दक्षिण-पश्चिम मानसूनी हवाओं की अरब समुद्री शाखा पर कब्जा कर सके। इन पर्वत श्रृंखलाओं का स्थान ऐसा है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून जो मई के अंतिम सप्ताह के दौरान प्रायद्वीप के दक्षिणी सिरे पर टूट जाता है, हवाओं को अवरुद्ध कर देता है और वे तेजी से संघनित करने के लिए पहाड़ के खिलाफ तेजी से बढ़ते हैं और पश्चिमी पर प्रचुर मात्रा में वर्षा करते हैं। पक्ष। नतीजतन, पूर्वी हिस्से को आमतौर पर वर्षा छाया क्षेत्र के रूप में जाना जाता है।

1. अरब सागर की हवा जब 900-1200 मीटर की ऊचाई वाली पश्चिमी घाट की ढलानों पर चढ़ती हैं लेकिन जल्दी ही वो शांत जाती है और नतीजतन, पश्चिमी घाट पर 250 सेमी और 400 सेमी के बीच भारी भारी वर्षा होती है। जब ये हवा पूर्वी घाट की तरफ तो इनकी शक्ति और आर्द्रता कम हो जाती है जिसके वजह से यहाँ कम बारिश होती है।

2. पश्चिमी घाट बारिश करने वाली हवाओं को अपने पश्चिमी ढलानों से रोकता है जिसके वजह से यहाँ भारी वर्षा होती है। जबकि दक्षिण-पश्चिम मानसून पूर्वी घाट के समानांतर चलते हुए निकल जाती है क्युकी यहाँ नमी से भरपूर हवाओं को अवरुद्ध करने वाले ऊँचे-ऊँचे ढलान नहीं हैं।

3. पश्चिमी घाट दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की अरब सागर शाखा के बारिश से भरे क्षेत्र में स्थित है, जबकि पूर्वी घाट दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की अरब सागर शाखा के बारिश छाया क्षेत्र में स्थित है।

4. पश्चिमी घाट में एक सभ्य ढलान है जो सूरज की रोशनी अवशोषण के लिए एक बड़ा क्षेत्र प्रदान करता है जबकि पूर्वी घाट पर विषम ढलान है।

Similar Posts

Leave a Reply