Geography | GK MCQ

In India, ‘Yellow revolution’ is associated with / भारत में ‘पीली क्रांति’ का संबंध है

In India, ‘Yellow revolution’ is associated with / भारत में ‘पीली क्रांति’ का संबंध है

 

(1) production of paddy / धान का उत्पादन
(2) production of oilseeds / तिलहन का उत्पादन
(3) production of tea / चाय का उत्पादन
(4) production of flower / फूल का उत्पादन

(SSC Tax Assistant (Income Tax & Central Excise Exam. 12.11.2006)

Answer / उत्तर : – 

(2) production of oilseeds / तिलहन का उत्पादन

 

 

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

The growth, development and adoption of new varieties of oilseeds and complementary technologies nearly doubled oilseeds production from 12.6 mt in 1987-88 to 24.4 mt in 1996-97, catalyzed by the Technology Mission on Oilseeds, brought about the Yellow Revolution. The oilseeds production scenario in India has witnessed a dramatic turn. The country achieved a status of ‘self sufficient and net exporter’ during early nineties, rising from the ‘net importer’ state, with a mere annual production of nearly 11 million tonnes from the annual oilseed crops, uptil the year 1986,87. In a span of just a decade, an all time record oilseeds production of 25 million tonnes from annual oilseed crops was attained during 1996,97. This transformation has been termed as “The Yellow Revolution”.

तिलहनों की नई किस्मों और पूरक प्रौद्योगिकियों के विकास, विकास और अंगीकरण ने तिलहन उत्पादन को लगभग दोगुना कर दिया है, जो 1987-88 में 12.6 मिलियन टन से 1996-97 में 24.4 मिलियन टन हो गया, तिलहन पर प्रौद्योगिकी मिशन द्वारा उत्प्रेरित, पीली क्रांति लायी। भारत में तिलहन उत्पादन परिदृश्य में नाटकीय मोड़ आया है। वर्ष 1986,87 तक वार्षिक तिलहन फसलों से लगभग 11 मिलियन टन के मात्र वार्षिक उत्पादन के साथ, देश ने ‘शुद्ध आयातक’ राज्य से बढ़ते हुए, नब्बे के दशक की शुरुआत में ‘आत्मनिर्भर और शुद्ध निर्यातक’ का दर्जा हासिल किया। केवल एक दशक की अवधि में, 1996,97 के दौरान वार्षिक तिलहन फसलों से 25 मिलियन टन का अब तक का रिकॉर्ड तिलहन उत्पादन प्राप्त किया गया था। इस परिवर्तन को “पीली क्रांति” कहा गया है।

Similar Posts

Leave a Reply