Economics | GK MCQ

“Marginal Cost” equals/ सीमांत लागत” बराबर होती है

“Marginal Cost” equals / सीमांत लागत” बराबर होती है

(1) total cost minus total benefit for the last unit produced / कुल लागत माइनस उत्पादित अंतिम इकाई के लिए कुल लाभ
(2) total cost divided by total benefit for the last unit produced / उत्पादित अंतिम इकाई के लिए कुल लाभ से विभाजित कुल लागत
(3) total cost divided by quantity / कुल लागत मात्रा से विभाजित
(4) the change in total cost divided by the change in quantity / मात्रा में परिवर्तन से विभाजित कुल लागत में परिवर्तन

(SSC (10+2) Level DEO & LDC Exam. 10.11.2013, IInd Sitting)

Answer and Explanation : –

(4) the change in total cost divided by the change in quantity / मात्रा में परिवर्तन से विभाजित कुल लागत में परिवर्तन

Explanation : –

(4) Marginal cost is the change in the total cost that arises when the quantity produced has an increment by unity. That is, it is the cost of producing one more unit of a good. To illustrate marginal cost let’s assume that the total cost of producing 10,000 units is Rs. 50,000. If we produce a total of 10,001 units the total cost is Rs. 50,002. That would mean the marginal cost—the cost of producing the next unit—was Rs. 2. / सीमांत लागत कुल लागत में परिवर्तन है जो तब उत्पन्न होता है जब उत्पादित मात्रा में एकता से वृद्धि होती है। अर्थात्, यह एक वस्तु की एक और इकाई के उत्पादन की लागत है। सीमांत लागत को स्पष्ट करने के लिए मान लेते हैं कि 10,000 इकाइयों के उत्पादन की कुल लागत रु. 50,000 यदि हम कुल १०,००१ इकाइयों का उत्पादन करते हैं तो कुल लागत रु. ५०,००२. इसका मतलब होगा कि सीमांत लागत – अगली इकाई के उत्पादन की लागत – रु। 2.

Similar Posts

Leave a Reply