Geography | GK | GK MCQ

The first solar city of India is: / भारत का पहला सौर शहर है:

The first solar city of India is: / भारत का पहला सौर शहर है:

 

(a) Anandpur Sahib / आनंदपुर साहिब
(b) Mumbai / मुंबई
(c) Bangalore / बैंगलोर
(d) Delhi / दिल्ली

(SSC CPO Sub-Inspector Exam. 12.01.2003)

Answer / उत्तर : –

(a) Anandpur Sahib / आनंदपुर साहिब

 

गुरुद्वारा तख्त श्री केशगढ़ साहिब - आनंदपुर साहिब ( Gurudwara Takht Shri  Keshgarh Sahib - Anandpur Sahib ) | Spiritual Places in India - भारत के  धार्मिक स्थल

 

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

In order to keep its ranking and reputation as the greenest and cleanest city in India, the administration of Chandigarh is considering a green code for the city. The administration is holding talks with The Energy and Resources Institute to work on the implementation of the code. If the code is implemented, buildings in the city will have to be environment friendly including use of natural construction material and lower energy consumption. Chandigarh is also on the way to become the country’s first solar city in 2016. However, in September 2012, Karnataka Chief Minister Jagadish Shettar announced that the state will soon be housing India’s first solar city. The state is aiming to add 200mw of solar energy by 2016.

The city of Anandpur Sahib was founded by the ninth Guru Tegh Bahadur in June 1665. They had moved away from other Sikh sects living in Kiratpur after reaching Anandpur Sahib. A decade after moving to Anandpur Sahib, he died of intense persecution. Death was witnessed by martyrdom by his followers in the region and his son after Guru Gobind Singh became the tenth Guru of the Sikhs. Guru Gobind Singh Ji resided here for 28 years. It is the second holiest place in Sikhism.

The popularity of Guru Gobind Singh grew over the years, and the small Anandpur village had turned into a bustling town with a Sikh population of Gurudwara anandpur sahib. This place has many Gurudwaras which are beautifully built. Who gives peace to every soul. It was in the Takht Sri Kesgarh Sahib of Anandpur Sahib that Guru Gobind Singh gave the title of Panj Pyaras in 1699 and the Khalsa Panth was started.

Best time to visit Anandpur Sahib

Anandpur Sahib is situated in the plains of North India. The climate of Anandpur Sahib is temperate throughout the year. Winter season is the best time to visit. Because the temperature here is cold in that season. So that tourists can comfortably stroll on the streets of the city. Can go in summer season also. But he has to face the hot dry winds i.e. heat wave. It becomes a bit difficult to get out because of that. Tourists can visit at any time if they want.

भारत में सबसे हरे और स्वच्छ शहर के रूप में अपनी रैंकिंग और प्रतिष्ठा को बनाए रखने के लिए, चंडीगढ़ प्रशासन शहर के लिए एक ग्रीन कोड पर विचार कर रहा है। प्रशासन कोड के क्रियान्वयन पर काम करने के लिए ऊर्जा और संसाधन संस्थान के साथ बातचीत कर रहा है। यदि कोड लागू किया जाता है, तो शहर में इमारतों को प्राकृतिक निर्माण सामग्री के उपयोग और कम ऊर्जा खपत सहित पर्यावरण के अनुकूल होना होगा। चंडीगढ़ भी 2016 में देश का पहला सौर शहर बनने की राह पर है। हालांकि, सितंबर 2012 में, कर्नाटक के मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार ने घोषणा की कि राज्य में जल्द ही भारत का पहला सौर शहर होगा। राज्य का 2016 तक 200mw सौर ऊर्जा जोड़ने का लक्ष्य है।

आनन्दपुर साहिब शहर की स्थापना नौंवे गुरु तेग बहादुर 1665 के जून में की थी। उन्होंने आनंदपुर साहिब पहुंचने के बाद किरतपुर में रहने वाले अन्य सिख संप्रदायों से दूर चले गए थे। आनंदपुर साहिब जाने के एक दशक बाद गहन उत्पीड़न के कारन उसकी मृत्यु हो गई। मृत्यु को क्षेत्र में उनके अनुयायियों और उनके बेटे ने शहादत से देखा गया बाद गुरु गोबिंद सिंह सिखों के दसवें गुरु बने थे। गुरु गोबिंद सिंह जी ने यहाँ 28 वर्षों तक निवास किया था। यह सिख धर्म में दूसरे नंबर का सबसे पवित्र स्थान हैं।

गुरु गोबिंद सिंह की लोकप्रियता वर्षों तक बढ़ी, और छोटा आनंदपुर गांव सिखों  की आबादी के साथ गुरुद्वारा आनंदपुर साहिबएक हलचल भरे शहर में बदल गया था। यह जगह में कई गुरुद्वारे हैं जो खूबसूरती से बनाए गए हैं। जो हर आत्मा को शांति प्रदान करते हैं। आनन्दपुर साहिब के तख्त श्री केसगढ़ साहिब में ही गुरु गोबिंद सिंह ने सन 1699 में पंज प्यारों की उपाधि दी थी और खालसा पंथ की शुरुआत हुई थी।

आनंदपुर साहिब जाने का सबसे अच्छा समय

आनंदपुर साहिब उत्तर भारत के मैदानी विस्तार में स्थित है। आनंदपुर साहिब (weather anandpur sahib) की जलवायु वर्ष भर समशीतोष्ण रहती है। सर्दियों का मौसम घूमने का सबसे अच्छा समय है। क्योंकि उस मौसम में यहां का तापमान ठंडा होता है। जिससे पर्यटक आराम से शहर की सड़कों पर टहल सकते हैं। गर्मियां के मौसम में भी जा सकते हैं। लेकिन वह गर्म शुष्क हवाएं यानि लू का सामना करना पड़ता हैं। उसके कारन बाहर निकलना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। पर्यटक चाहे तो कोई भी समय दौरा कर सकते है।

 

Similar Posts

Leave a Reply