Geography | GK | GK MCQ

The world’s highest rail bridge being constructed in the State of J & K will be on which of the following rivers ? / जम्मू-कश्मीर राज्य में बनाया जा रहा दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पुल निम्नलिखित में से किस नदी पर होगा?

The world’s highest rail bridge being constructed in the State of J & K will be on which of the following rivers ? / जम्मू-कश्मीर राज्य में बनाया जा रहा दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पुल निम्नलिखित में से किस नदी पर होगा?

 

(1) Jhelum / झेलम
(2) Chenab / चिनाब
(3) Indus / सिंधु
(4) Ravi / रवि

(SSC (10+2) Level Data Entry Operator & LDC Exam. 28.10.2012)

Answer / उत्तर : – 

(2) Chenab / चिनाब

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

The Chenab Bridge is an arch bridge under construction iSn India. It spans the Chenab River between Bakkal and Kauri, in Reasi district of Jammu and Kashmir.

Under the Udhampur-Baramulla Rail Link Project, this bridge is built on the Chenab river in Reasi of Jammu division. The bridge, measuring 1,315 metres, has a main arch span of 467 metres, which is the longest arch span of any broad gauge line ever built. Soon the direct train service from Jammu and Kashmir to Kanyakumari will start. With this, not only passenger trains, but also special trains of soldiers will run at high speed.

After the work of the upper arch is completed, now the work of laying the railway track will start. This bridge will prove to be a milestone in the history of Indian Railways after independence, which will present the best example of science and technology. There are 38 tunnels in this project, out of which the length of the longest tunnel is 12.75 km.

Two special cable cars have been made to build the bridge, which have a capacity of 20 and 37 metric tons. Railway officials say that even if the wind blows at a speed of 266 kilometers per hour, then this bridge will be able to stand easily.

The length of the Chenab Arch Bridge on the Baramulla Rail Link is 467 meters. Its height is 359 meters above the level of the river, which is more than the height of Eiffel Tower and Qutub Minar. It has 26 major and 11 minor bridges. The total length of 37 bridges is 7 km.

The most complex and challenging bridge ever in the history of a national project of the Railways is being built for the next 120 years. The geographical conditions of the bridge construction site also pose a challenge from earthquake and strong wind, but this bridge, which is being called a wonder of engineering, is going to be completed with full strength keeping in mind all the aspects.

चिनाब ब्रिज भारत में निर्माणाधीन एक आर्च ब्रिज है। यह जम्मू और कश्मीर के रियासी जिले में बक्कल और कौरी के बीच चिनाब नदी तक फैला है।

उधमपुर-बारामुला रेल लिंक प्रोजेक्ट के तहत यह पुल जम्मू संभाग के रियासी में चिनाब नदी पर बना है। 1,315 मीटर की लंबाई वाले पुल में 467 मीटर का मेन आर्क स्पैन है, जो अब तक बनी किसी भी ब्रॉड गेज लाइन का सबसे लंबा आर्क स्पैन है। जल्द ही जम्मू-कश्मीर से कन्याकुमारी तक सीधी रेल सेवा शुरू होगी। इससे न केवल यात्री ट्रेन, बल्कि सैनिकों की स्पेशल ट्रेनें भी तेज रफ्तार से दौड़ेंगी।
 
ऊपर वाले आर्क का काम पूरा होने के बाद अब रेलवे ट्रैक बिछाने का काम शुरू होगा। आजादी के बाद भारतीय रेलवे के इतिहास में यह पुल मील का पत्थर साबित होगा, जो विज्ञान और तकनीक का बेहतरीन नमूना पेश करेगा। इस प्रोजेक्ट में कुल 38 टनल हैं, जिसमें सबसे लंबी टनल की लंबाई 12.75 किलोमीटर है।

ब्रिज को बनाने के लिए खास तरह के दो केबल कार बनाए गए हैं, जिनकी क्षमता 20 और 37 मीट्रिक टन है। रेल अधिकारियों का कहना है कि 266 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी हवा चली तो यह पुल आसानी से टिका रहेगा।

बारामुला रेल लिंक पर चिनाब आर्क ब्रिज की लंबाई 467 मीटर है। नदी के तल से इसकी ऊंचाई 359 मीटर है, जो एफिल टावर व कुतुबमीनार की ऊंचाई से अधिक है। इसमें 26 बड़े और 11 छोटे पुल हैं। 37 पुलों की कुल लंबाई 7 किमी है। 

रेलवे की राष्ट्रीय परियोजना के इतिहास में अब तक का सबसे जटिल और चुनौतीपूर्ण पुल को अगले 120 साल के लिए बनाया जा रहा है। पुल निर्माण साइट की भौगोलिक परिस्थितियां भूकंप और तेज हवा से भी चुनौती खड़ी करती हैं, लेकिन इंजीनियरिंग का अजूबा कहा जा रहा यह पुल तमाम पहलुओं को ध्यान में रखकर पूरी मजबूती से पूरा होने जा रहा है।

Similar Posts

Leave a Reply