Geography | GK | GK MCQ

Which of the following is considered a cash crop in India? / भारत में निम्नलिखित में से किसे नकद फसल माना जाता है?

Which of the following is considered a cash crop in India? / भारत में निम्नलिखित में से किसे नकद फसल माना जाता है?

(a) Maize / मक्का
(b) Gram / ग्राम
(c) Onion / प्याज
(d) Wheat / गेहूं

(SSC Tax Assistant (Income Tax & Central Excise Exam. 12.11.2006)

Answer / उत्तर : – 

(b) Gram / ग्राम

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

The crops of India are divided into mainly two types: (a) Food crops (b) Cash crops. Rice, wheat, maize, millet, barley, mower are the examples of food grains. Jute, cotton, sugarcane, oil seeds and rubber are known as cash crops. A cash crop is an agricultural crop which is grown for sale for profit. It is typically purchased by parties separate from a farm. Other cash crops are cashew, cotton, tea, rubber, gram, sesame, maize and mustard.

The crops of India are divided into mainly two types: (a) Food crops (b) Cash crops. Rice, wheat, maize, millet, barley, mower are the examples of food grains. Jute, cotton, sugarcane, oilseeds and rubber are known as cash crops. A cash crop is an agricultural crop which is grown for sale for profit. It is typically purchased by parties separate from a farm. Other cash crops are cashew, cotton, tea, rubber, gram, sesame, maize and mustard.

A cash crop is something which will fetch more money than rice/wheat per kg to the farmer and his family will not be able to consume much of it by themselves. Usually investment and labour is also more for the cash crops.

Fruits, vegetables, spices,

condiments, oil seeds, tobacco, cotton etc are considered cash crops in India. There are some more exotic local crops also which get much higher value.

भारत की फसलों को मुख्य रूप से दो प्रकारों में बांटा गया है: (ए) खाद्य फसलें (बी) नकद फसलें। चावल, गेहूं, मक्का, बाजरा, जौ, घास काटने की मशीन खाद्यान्न के उदाहरण हैं। जूट, कपास, गन्ना, तिलहन और रबर को नकदी फसल के रूप में जाना जाता है। नकद फसल एक कृषि फसल है जिसे लाभ के लिए बिक्री के लिए उगाया जाता है। यह आम तौर पर एक खेत से अलग पार्टियों द्वारा खरीदा जाता है। अन्य नकदी फसलें काजू, कपास, चाय, रबर, चना, तिल, मक्का और सरसों हैं।

भारत की फसलों को मुख्य रूप से दो प्रकारों में बांटा गया है: (ए) खाद्य फसलें (बी) नकद फसलें। चावल, गेहूं, मक्का, बाजरा, जौ, घास काटने की मशीन खाद्यान्न के उदाहरण हैं। जूट, कपास, गन्ना, तिलहन और रबर को नकदी फसल के रूप में जाना जाता है। नकद फसल एक कृषि फसल है जिसे लाभ के लिए बिक्री के लिए उगाया जाता है। यह आम तौर पर एक खेत से अलग पार्टियों द्वारा खरीदा जाता है। अन्य नकदी फसलें काजू, कपास, चाय, रबर, चना, तिल, मक्का और सरसों हैं।

नकदी फसल एक ऐसी चीज है जिससे किसान को चावल/गेहूं प्रति किलो से ज्यादा पैसा मिलेगा और उसका परिवार खुद इसका ज्यादा उपभोग नहीं कर पाएगा। आमतौर पर नकदी फसलों के लिए निवेश और श्रम भी अधिक होता है।

फल, सब्जियां, मसाले,

मसालों, तिलहन, तंबाकू, कपास आदि को भारत में नकदी फसल माना जाता है। कुछ और विदेशी स्थानीय फसलें भी हैं जिनका बहुत अधिक मूल्य मिलता है।

Similar Posts

Leave a Reply