GK MCQ | Indian polity

If the Election Commission is satisfied that a candidate has failed to lodge an account of election expenses, within the prescribed time and in the manner, for no good reason or justification, what is the period for which the EC can disqualify him to be a member or from continuing to be a member of the elected office from the date of the order ? / यदि चुनाव आयोग संतुष्ट है कि कोई उम्मीदवार बिना किसी अच्छे कारण या औचित्य के, निर्धारित समय के भीतर और तरीके से चुनाव खर्च का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने में विफल रहा है, तो चुनाव आयोग उसे सदस्य बनने के लिए किस अवधि के लिए अयोग्य घोषित कर सकता है। या आदेश की तिथि से निर्वाचित कार्यालय का सदस्य बने रहने से ?

If the Election Commission is satisfied that a candidate has failed to lodge an account of election expenses, within the prescribed time and in the manner, for no good reason or justification, what is the period for which the EC can disqualify him to be a member or from continuing to be a member of the elected office from the date of the order ? / यदि चुनाव आयोग संतुष्ट है कि कोई उम्मीदवार बिना किसी अच्छे कारण या औचित्य के, निर्धारित समय के भीतर और तरीके से चुनाव खर्च का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने में विफल रहा है, तो चुनाव आयोग उसे सदस्य बनने के लिए किस अवधि के लिए अयोग्य घोषित कर सकता है। या आदेश की तिथि से निर्वाचित कार्यालय का सदस्य बने रहने से ?

(1) 2 years /  2 साल
(2) 3 years / 3 साल
(3) 4 years / 4 साल
(4) 5 years / 5 साल

(SSC Tax Assistant (Income Tax & Central Excise) Exam.05.12.2004)

Answer / उत्तर :-

(2) 3 years / 3 साल

Explanation / व्याख्या :-

Under section 10A of the RP Act, 1951, if the Election Commission is satisfied that a person has failed to lodge an account of election expenses with the time and in the manner required by or under that Act and he has no good reason or justification for the failure, it has the power to disqualify him for a period of 3 years for being chosen as, and for being, a member of either House of Parliament or the Legislative Assembly or Legislative Council of a State. / आरपी अधिनियम, 1951 की धारा 10ए के तहत, यदि चुनाव आयोग संतुष्ट है कि कोई व्यक्ति उस अधिनियम के तहत या उसके तहत आवश्यक समय और तरीके से चुनाव खर्च का लेखा-जोखा दर्ज करने में विफल रहा है और उसके पास इसके लिए कोई अच्छा कारण या औचित्य नहीं है। विफल होने पर, उसे संसद के किसी भी सदन या विधान सभा या राज्य की विधान परिषद के सदस्य के रूप में चुने जाने और होने के लिए 3 साल की अवधि के लिए अयोग्य घोषित करने की शक्ति है।

Similar Posts

Leave a Reply