GK | GK MCQ | Indian polity

In Indian Parliament a bill may be sent to a select committee / भारतीय संसद में एक बिल एक चुनिंदा समिति को भेजा जा सकता है

In Indian Parliament a bill may be sent to a select committee / भारतीय संसद में एक बिल एक चुनिंदा समिति को भेजा जा सकता है

(a) after the first reading/पहले पढ़ने के बाद
(b) after the second reading/दूसरे पढ़ने के बाद
(c) after general discussion during second reading/दूसरे पढ़ने के दौरान सामान्य चर्चा के बाद
(d) at any stage at the discretion of the Speaker/अध्यक्ष के विवेक पर किसी भी स्तर पर

(SSC CPO Sub- Inspector Exam. 05.09.2004)

Answer / उत्तर : – 

(d) at any stage at the discretion of the Speaker/अध्यक्ष के विवेक पर किसी भी स्तर पर

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :- 

When a Bill comes up before a House for general discussion, it is open to that House to refer it to a Select Committee of the House or a Joint Committee of the two Houses. A motion has to be moved and adopted to this effect in the House in which the Bill comes up for consideration. In case the motion adopted is for reference of the Bill to a Joint Committee, the decision is conveyed to the other House requesting them to nominate members of the other House to serve on the Committee. The Select or Joint Committee considers the Bill clause by clause just as the two Houses do. Amendments can be moved to various clauses by members of the Committee. / जब कोई विधेयक किसी सदन के समक्ष सामान्य चर्चा के लिए आता है, तो वह सदन की प्रवर समिति या दोनों सदनों की संयुक्त समिति को भेजने के लिए स्वतंत्र होता है। जिस सदन में विधेयक विचार के लिए आता है उसमें इस आशय का एक प्रस्ताव पेश किया जाता है और उसे स्वीकृत किया जाता है। यदि स्वीकृत प्रस्ताव विधेयक को संयुक्त समिति के पास भेजने के लिए है, तो निर्णय दूसरे सदन को सूचित किया जाता है जिसमें उनसे समिति में सेवा करने के लिए दूसरे सदन के सदस्यों को नामित करने का अनुरोध किया जाता है। प्रवर या संयुक्त समिति दोनों सदनों की तरह ही विधेयक के खंड पर विचार करती है। समिति के सदस्यों द्वारा विभिन्न खंडों में संशोधन पेश किए जा सकते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply