Geography | GK | GK MCQ

The Konkan Railway connects : / कोंकण रेलवे जोड़ता है:

The Konkan Railway connects : / कोंकण रेलवे जोड़ता है:

 

(1) Goa – Mangalore / गोवा – मैंगलोर
(2) Roha – Mangalore / रोहा – मैंगलोर
(3) Kanyakumari – Mangalore / कन्याकुमारी – मैंगलोर
(4) Kanyakumari – Mumbai / कन्याकुमारी – मुंबई

(SSC Combined Graduate Level Tier-I Exam. 26.06.2011)

Answer / उत्तर : –

(2) Roha – Mangalore / रोहा – मैंगलोर

 

पहाड़ और समंदर के बीच से गुजरती है कोंकण रेलवे, ये था 'मेट्रोमैन' का पहला करिश्मा... – News18 हिंदी

 

Explanation / व्याख्यात्मक विवरण :-

Konkan Railway is a railway line which runs along the Konkan coast of India. It was constructed and is operated by the Konkan Railway Corporation. It runs from Mangalore in Karnataka to Roha in Maharashtra through Goa, along the west coast of India and Western Ghats.

Konkan Railway runs from Mangalore in Karnataka to Roha in Maharashtra through Goa, along the west coast of India and Western Ghats. Its Line length is 738 km; and Track length is 738 km. The route is a single-line track, and is not electrified. Although it has been designed for high-speed traffic of 160 kilometres per hour, the fastest train on the route, the Trivandrum Rajdhani Express, at present runs at a maximum speed of 110 kilometres per hour. The route is open to both freight and passenger traffic. The line, which runs parallel to the Arabian Sea coastline, offers some of the most spectacular views of any Indian rail journey. The Konkan railway route intersects national highway NH-17 at many places

Konkan Railway is a subsidiary of Indian Railways which operates trains for the coastal areas of Konkan. It was established on 26 January 1998. Its headquarter is located in Mumbai. It is a total of 760 kms.

Konkan Railway is a subsidiary but autonomously operated railway system of Indian Railways headquartered at Belapur, Navi Mumbai. It works directly under the supervision of Railway Board and Union Railway Minister.

Konkan Railway is a unit of Indian Railways. It is called KR in short form.

It was established on 26 January 1998. Its headquarter is located in Navi Mumbai. The Konkan Railway was an important link connecting the commercial capital of India, Mumbai and Mangalore. The 736-km-long line connects the states of Maharashtra, Goa and Karnataka, a region with crisscrossing rivers, deep gorges and sky-high mountains.

कोंकण रेलवे एक रेलवे लाइन है जो भारत के कोंकण तट के साथ चलती है। इसका निर्माण और संचालन कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन द्वारा किया जाता है। यह कर्नाटक में मैंगलोर से लेकर महाराष्ट्र के रोहा तक, भारत के पश्चिमी तट और पश्चिमी घाट के साथ गोवा से होकर गुजरती है।

क्रमांक नाम संक्षेप स्थापना समय मुख्यालय मंडल
1. उत्तर रेलवे उरे 14 अप्रैल, 1952 दिल्ली अंबाला, फिरोजपुर, लखनऊ, मुरादाबाद
2. पूर्वोत्तर रेलवे उपूरे 1952 गोरखपुर इज्जत नगर, लखनऊ, वाराणसी
3. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे पूसीरे 1958 गुवाहाटी अलीपुर द्वार, कटिहार, लामडिंग, रंगिया, तिनसुकिया
4. पूर्व रेलवे पूरे अप्रैल, 1952 कोलकाता हावड़ा, सियालदह, आसनसोल, मालदा
5. दक्षिणपूर्व रेलवे दपूरे 1955 कोलकाता आद्रा, चक्रधरपुर, खड़गपुर, राँची
6. दक्षिण मध्य रेलवे दमरे 2 अक्टूबर, 1966 सिकंदराबाद सिकंदराबाद, हैदराबाद, गुंटकल, गुंटूर, नांदेड़, 

विजयवाड़ा

7. दक्षिण रेलवे दरे 14 अप्रैल, 1951 चेन्नई चेन्नई, मदुरै, पालघाट, तिरुचुरापल्ली, त्रिवेंद्रम, 

सलेम (कोयंबतूर)

8. मध्य रेलवे मरे 5 नवंबर, 1951 मुंबई मुंबई, भुसावल, पुणे, सोलापूर, नागपुर
9. पश्चिम रेलवे परे 5 नवंबर, 1951 मुंबई मुंबई सेंट्रल, वदोदरा, रतलाम, अहमदाबाद, 

राजकोट, भावनगर

10. दक्षिण पश्चिम रेलवे दपरे 1 अप्रैल, 2003 हुबली हुबली, बैंगलोर, मैसूर
11. उत्तर पश्चिम रेलवे उपरे 1 अक्टूबर, 2002 जयपुर जयपुर, अजमेर, बीकानेर, जोधपुर
12. पश्चिम मध्य रेलवे पमरे 1 अप्रैल, 2003 जबलपुर जबलपुर, भोपाल, कोटा
13. उत्तर मध्य रेलवे उमरे 1 अप्रैल, 2003 इलाहाबाद इलाहाबाद, आगरा, झांसी
14. दक्षिणपूर्व मध्य रेलवे दपूमरे 1 अप्रैल, 2003 बिलासपुर बिलासपुर, रायपुर, नागपुर
15. पूर्व तटीय रेलेवे पूतरे 1 अप्रैल, 2003 भुवनेश्वर खुर्दा रोड, संबलपुर, विशाखापत्तनम
16. पूर्वमध्य रेलवे पूमरे 1 अक्टूबर, 2002 हाजीपुर दानापुर, धनबाद, मुगलसराय, 

सोनपुर, समस्तीपुर

17. कोंकण रेलवे† केआर 26 जनवरी, 1998 नवी मुंबई कोई नहीं

 

कोंकण रेलवे भारत के पश्चिमी तट और पश्चिमी घाट के साथ कर्नाटक के मैंगलोर से महाराष्ट्र के रोहा तक गोवा के माध्यम से चलती है। इसकी लाइन की लंबाई 738 किमी है; और ट्रैक की लंबाई 738 किमी है। मार्ग एक सिंगल लाइन ट्रैक है, और विद्युतीकृत नहीं है। हालाँकि इसे 160 किलोमीटर प्रति घंटे के उच्च गति वाले यातायात के लिए डिज़ाइन किया गया है, लेकिन इस मार्ग पर सबसे तेज़ ट्रेन, त्रिवेंद्रम राजधानी एक्सप्रेस, वर्तमान में 110 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम गति से चलती है। मार्ग माल ढुलाई और यात्री यातायात दोनों के लिए खुला है। अरब सागर तट के समानांतर चलने वाली यह रेखा किसी भी भारतीय रेल यात्रा के कुछ सबसे शानदार दृश्य प्रस्तुत करती है। कोंकण रेल मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग NH-17 को कई स्थानों पर काटता है

कोंकण रेलवे भारतीय रेलवे की एक आनुषांगिक कंपनी है जो कोंकण के तटीय क्षेत्रों के लिए रेलों का परिचालन करती है। इसकी स्थापना 26 जनवरी 1998 में हुई थी। इसका मुख्यालय मुम्बई में स्थित है। यह कुल 760 किमी.लम्बी है

कोंकण रेलवे भारतीय रेल के एक अनुषांगिक इकाई के रूप में परंतु स्वायत्त रूप से परिचालित होनेवाली रेल व्यवस्था है जिसका मुख्यालय नवी मुंबई के बेलापुर में रखा गया है। यह सीधे रेलवे बोर्ड एवं केंद्रीय रेलमंत्री के निगरानी में काम करता है।

कोंकण रेलवे भारतीय रेल की एक इकाई है। इसे लघुरूप में केआर कहा जाता है।

इसकी स्थापना 26 जनवरी 1998 में हुई थी। इसका मुख्यालय नवी मुंबई में स्थित है। कोंकण रेलवे भारत की वाणिज्य राजधानी मुंबई और मंगलोर को जोड़ने वाली एक महत्वपूर्ण कड़ी थी | 736 कि॰मी॰ लंबी यह लाइन महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक राज्यों को जोड़ती है जो एक ऐसा क्षेत्र है जहां आर-पार बहती नदियां, गहरी घाटियां और आसमान छूते हुए पहाड़ हैं।

 

Similar Posts

Leave a Reply